Bajrang Baan Path PDF Hindi

Bajrang Baan Path PDF Hindi

Bajrang Baan Path(बजरंग बाण पाठ) PDF Hindi Download को डाउनलोड करने के लिए इस पोस्ट में नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक कर आप आसानी से फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं

जिसमें आपको Bajrang Baan Path(बजरंग बाण पाठ) का संपूर्ण PDF आप आसानी से Free में डाउनलोड कर सकेंगेयदि आप एक सच्चे मन से Bajrang Baan Path (बजरंग बाण पाठ) का अध्ययन करेंगे तो आपके परिवार में सुख शांति और समृद्धि का आगमन होगा आपके परिवार से दुख,द्वेष, दरिद्रता, गरीबी आदि सभी अमंगल दूर हो जाएंगे इसलिए हमें प्रतिदिन सुबह बजरंग बाण पाठ जरूर करना चाहिए

यदि आप एक सच्चे मन से हनुमान जी की बजरंग बाण पाठ करेंगे तो आपकी हिर्दय, किडनी, फेफड़ा, जीवा आदि सभी शरीर के अंग मजबूत और शुद्ध रहेंगे बजरंग पाठ करने से हनुमान जी की कृपा सीधे आपके ऊपर बनी रहती है जिससे कि आप सभी कामों में सिद्धि प्राप्त होगी जिससे कि आप आगे की तरफ आसानी से बढ़ सकेंगे

यदि आप हनुमान जी को एक सच्चे मन से मानते हैं तो नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक कर आप इस PDF को Free में डाउनलोड कर सकते हैं जिसमें आपको बजरंग बाण पाठ की संपूर्ण गाथा मिलेगी

PDFBajrang Baan Path(बजरंग बाण पाठ)
LanguageHindi
Uploaded byhindipdfhai.com
bajrang-baan-hindipdfhai-com

Bajrang Baan Path (बजरंग बाण पाठ) HINDI

बजरंग बाण पाठ Bajrang Baan Path- बजरंगबली श्री हनुमान जी का पर्यायवाची नाम है बजरंगबली के अनेक पर्यायवाची नाम है जैसे-संकट मोचन,कपि श्रेष्ठ, महावीर, रामदूत, पवन पुत्र आदि नाम है

See also  Hanuman Chalisa in hindi pdf

यदि आप हनुमान जी के प्रिय भक्त है तो आपका काल भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता क्योंकि हनुमान जी ने कॉल पर भी विजय पा ली थी यदि आप हनुमान जी को सच्चे मन से पूजन पाठ तथा उन्हें लाल रंग की झंडा अर्पित करेंगे तो आपकी कभी भी जीवन में अकाल मृत्यु नहीं हो सकती क्योंकि हनुमान जी को यह भगवान भोलेनाथ द्वारा वरदान दिया गया है कि यदि कोई भी भक्त हनुमान जी को सच्चे मन से लाल रंग का झंडा चढ़ाए गा तो उसकी कभी भी अकाल मृत्यु नहीं होगी

क्योंकि एक बार हनुमान जी के पिता की अकाल मृत्यु हो जाने के कारण हनुमान जी अत्यंत क्रोधित हुए और वह यमलोक जा पहुंचे जहां पर कि उन्होंने यमलोक के सारे सैनिकों को परास्त कर यमराज को युद्ध के लिए चेतावनी दी फिर भी यमराज ने हनुमान जी से युद्ध करने के लिए तत्पर हो गए जिससे हनुमान जी अत्यंत क्रोधित हुए और उन्होंने यमराज को युद्ध में प्राप्त कर उन्हें अपना आहार बना बनाने के लिए अपने मुख में निकल गए

जिससे यमराज डर कर (महाकाल) भोलेनाथ को पुकारने लगे जिससे वहां पर भगवान भोलेनाथ आए और हनुमान जी को शांत किया तथा यमराज को समझाया जो भी भक्त हनुमान को सच्चे मन से लाल रंग का झंडा अर्पित करेगा उसकी कभी भी अकाल मृत्यु नहीं होगी जिसका की यमराज को पारण करना पड़ेगा

बजरंग बाण पाठ की विधि:-

  • बजरंग बाण पाठ हमेशा प्रत्येक मंगलवार से ही शुरू करना चाहिए
  • प्रत्येक मंगलवार को सूर्योदय से पूर्व स्नान कर हमें स्वच्छ वस्त्र पहन कर पूजन के लिए बैठ जाना चाहिए
  • जिस स्थान पर आप यह पूजन करना चाहते हैं तो उस स्थान को अच्छे तरीके से साफ कर वहां एक हनुमान जी की मूर्ति को स्थापित कर दें
  • जैसा कि हम सभी को पता है कि भगवान श्री गणेश सभी देवताओं में प्रथम है इसलिए सबसे पहले भगवान श्री गणेश की नाम लेकर हमें बजरंग बाण पाठ को शुरू करना चाहिए
  • इसके बाद आप प्रभु श्री राम तथा माता सीता का ध्यान करें उसके बाद पाठ अपना शुरू करे
  • हनुमान जी को फूल अर्पित करें और उनके समक्ष धूप, दीपक जलाएं
  • हनुमान जी को पूजा के पश्चात प्रसाद के रूप में चूरमा, लड्डू तथा मौसमी फल अर्पित करें करें
See also  Download Sunderkand Path PDF in Hindi

संपूर्ण बजरंग बाण पाठ को हिंदी में डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए डाउनलोड बटन पर क्लिक करें

Leave a Comment